hornbill festival in hindi
print

नागालैंड का हॉर्नबिल महोत्सव (Hornbill Festival)

यह कब मनाया जाता है?

  • 10 दिन तक होने वाला हॉर्नबिल त्योहार  1 दिसंबर, 2016 से किसामा, नागालैंड में शुरू होगा, यह तारीख नागा स्थापना दिवस के लिए भी चिन्हित है।
  • पहली बार इसे 2000 में आयोजित किया गया था, तब से यह दिसंबर के पहले सप्ताह में हर साल आयोजित किया जाता है।

 ऐसा नाम क्यों है ?

  • ग्रेट इंडियन हॉर्नबिल से इसका यह नाम पड़ा है जिसकी सुंदरता, सतर्कता और भव्यता की नागा लोगों ने बहुत प्रशंसा की है ।
  • नागाओं के विभिन्न आदिवासी लोकगीत, नृत्यों और गीतो में इस पक्षी के उल्लेख पाये जाते है।

हॉर्नबिल महोत्सव कहाँ होता है?

  • यह त्योहार नागा हेरिटेज विलेज, किसामा में आयोजित किया जाता है जो राजधानी शहर कोहिमा से ज्यादा दूर नही है।
  • नागा हेरिटेज विलेज नागा जनजातियों में से प्रत्येक का एक सूक्ष्म जगत है।

महोत्सव का महत्व

  • नागा परंपरागत रूप से अपनी दयालु और दोस्ताना स्वभाव के लिए जाने जाते हैं।
  • हर जनजाति के पारंपरिक झोपड़ियों, जिसे मोरुंग कहा जाता है, में पर्यटकों का गर्मजोशी से स्वागत करते है, जहां वे जनजाति के बुजुर्ग लोगों के साथ बैठ सकते हैं और कहानियों को साझा कर सकते है। जनजाति के युवा सदस्य अंग्रेजी के अनुवादक के रूप में कार्य करते है।
  • यहाँ नगालैंड में 17 विभिन्न जनजातियों हैं, जिन्हें उनके पारंपरिक पोशाक, भोजन और लोक नृत्य द्वारा विभेदित किया जा सकता है।
  • यह एक वार्षिक आयोजन है जो पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए और नागालैंड की समृद्ध सांस्कृतिक विविधता और परंपराओं को दर्शाने के लिए होता है।
  • हॉर्नबिल महोत्सव नृत्य, प्रदर्शन, शिल्प, परेड, खेल, भोजन मेलों और धार्मिक अनुष्ठानों के एक मिश्रण को प्रदर्शित करता है।
  • यह त्योहार भारत में एक अद्वितीय राज्य के रूप में नागालैंड की पहचान को पुष्ट करता है।
  • यह त्योहार पर्यटकों की एक बड़ी संख्या को आकर्षित करता है और पिछले कुछ वर्षों में इसने जबरदस्त लोकप्रियता हासिल की है, जिससे साल 2013 में इसे 7 दिन से बढ़ा कर 10 दिनों के वर्तमान रूप में विस्तृत किया गया।
  • यह एक ही स्थान पर सभी नागा जनजातियों द्वारा मनाया जाता है और ‘त्योहारों के महोत्सव’ के रूप में जाना जाता है।
  • त्योहार के दौरान होने वाले प्रतियोगिताओं में नागा कुश्ती, मिर्च खाने की प्रतियोगिता, पारंपरिक आग बनाने की विभिन्न प्रतिस्पर्धाये होती है।
  • नागाओं की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत की रक्षा करने के लिए, नागा जनजातियों के बीच एकता लाने के लिए तथा इस क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ाने के लिए हॉर्नबिल महोत्सव मनाने का विचार आया।
  • आयोजन के अंतिम दिन पारंपरिक अलाव को जलाया जाता है और एक एकता नृत्य सभी जनजातियों द्वारा किया जाता है।

Read in English

 

Leave a Reply